देश में पहली बार ‘धरतीपुत्रों’ के खाते में एक साथ बंपर राशि ट्रांसफर...

भजनलाल सरकार ने रचा इतिहास..किसानों को 650 करोड़ की सौगात!

मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का शुभारंभ, 65 लाख से ज्यादा किसानों के खाते में 650 करोड़ रुपए की राशि ट्रांसफर, सरकार ने एक दिन में दिए कई तोहफे

महिला ग्राम सेवा सहकारी समितियों को मिले 3-3 लाख रुपए, राज्य सहकार बीमा योजना के लाभार्थियों को 10-10 लाख की राशि के चेक भी वितरित

जयपुर/टोंक। सीएम भजनलाल शर्मा ने मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के राज्य स्तरीय समारोह में रविवार को प्रदेश के 65 लाख से अधिक किसानों के खातों में एक साथ 650 करोड़ की राशि हस्तांतरित की। इस दौरान सीएम ने कहा कि किसान साल के 12 महीने दिन-रात मेहनत करते हैं, जिसकी बदौलत आम आदमी की थाली में अन्न पंहुचता है। इसलिए हमने जो भी वादे जनता से किए हैं, उसे एक-एक कर पूरा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि ईआरसीपी योजना से प्रदेश की तस्वीर बदलेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि युवाओं के सपनों के साथ कुठाराघात करने वालों को भी हम किसी भी सूरत में नहीं बख्शेंगे। इस बीच समारोह में शामिल हुए किसानों ने मुख्यमंत्री की इस पहल का स्वागत किया। साथ ही कहा कि भजनलाल सरकार पहली ऐसी सरकार है, जिसने जो कहा उसे पूरा करने का काम किया है। सीएम ने अपने संबोधन में कहा कि हमने 65 लाख किसानों के खातों में 650 करोड़ रुपए की राशि डाली है। किसान अन्नदाता है और देश और प्रदेश की उन्नति तभी होगी, जब किसान की उन्नति होगी। उन्होंने कहा कि अब राज्य में डबल इंजन की सरकार है। ऐसे में हम राज्य के किसानों से किए वादों को पूरा कर रहे हैं। सीएम ने कहा कि हमने किसानों की चिंता की और फसल आने से पहले ही 125 रुपए एमएसपी को बढ़ा दिया। इसके साथ ही हमने पेंशनरों के खाते में 1037 करोड़ की राशि डाली। इसके अलावा ईआरसीपी लागू करवाई। मुख्यमंत्री ने जनता से वादा करते हुए कहा कि ईआरसीपी से राज्य के 21 जिलों तक पानी पहुंचेंगे। उन्होंने कहा कि एक किसान ही किसान की ही बात पूछता है। हमने 20 हजार किसानों का फार्म पौंड स्वीकृत किया है, ऐसे में हम किसानों को लोन देंगे। बिजली के लिए 8 हजार करोड़ का अनुदान दिया गया है। साथ ही प्रदेश के पशुपालकों के लिए मोबाइल वेटनरी गाड़ी की सुविधा शुरू की गई है।


65 लाख से अधिक किसान हुए लाभांवित, सहकारिता विभाग बना नोडल विभाग
इस योजना से राज्य के 65 लाख से अधिक किसान लाभान्वित हुए हैं। योजना के प्रथम किस्त के रूप में 650 करोड़ से अधिक की राशि सीधे किसानों के बैंक खातों में हस्तांतरित की गई। इससे प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत राज्य के 65 लाख से अधिक पात्र लाभार्थी किसानों को फायदा मिला। इस दौरान सीएम ने पात्र किसानों को सम्मान निधि डीबीटी के जरिए सीधे उनके बैंक खाते में हस्तांतरित की। इस योजना के तहत अतिरिक्त राशि की पहली किस्त एक हजार और 500-500 रुपए की दो किस्तें जारी की। साथ ही मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए नोडल विभाग सहकारिता विभाग को बनाया गया है।


51 महिला ग्राम सेवा सहकारी समितियों को मिले 3-3 लाख
साथ ही इस दौरान मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में 51 महिला ग्राम सेवा सहकारी समितियों को 3-3 लाख रुपए की हिस्सा राशि का हस्तांतरण की। इन सहकारी समितियों का संचालन व प्रबंधन महिलाओं द्वारा ही किया जाएगा। इन समितियों के गठन से महिलाओं में नेतृत्व क्षमता का विकास होगा और अपने विकास और कल्याण के लिए स्वयं निर्णय कर सकेंगी। मुख्यमंत्री ने राज्य स्तरीय समारोह में 21 कस्टम हायरिंग सेंटर्स की भी सौगात दी। कस्टम हायरिंग सेंटर स्थापित करने के लिए प्रत्येक ग्राम सेवा सहकारी समिति को 8 लाख रुपए का अनुदान दिया जाएगा। साथ ही सीएम ने लाभार्थियों को राज्य सहकार बीमा योजना की 10-10 लाख की राशि के चेक भी दिए।
 

Most Read